मोदी की रणनीति समझने के लिए बुद्धि की ज़रूरत है

Adit Gupta

अदिति गुप्ता

प्रिय भारतवासियों…
सब क्या सोच रहे हो कि NSG मामले मे अकेले चीन के विरोध के चलते भारत को हार का सामना करना पड़ा? क्या भारत का विरोध और किसी भी देश ने नही किया?
नहीं… मित्रों, ऐसा नहीं है… वास्तव में अमेरिका खुद भी नहीं चाहता था कि भारत शक्तिशाली देशो में शामिल होकर एक निर्णायक शक्ति बनने की ओर अग्रसर हो जाए, इसलिए उसने ब्राजील और स्विट्ज़रलैंड जैसे देशों का सहारा लिया और ‘बैक टू स्टेज’ वाली सोची-समझी रणनीति खेली।
भारत ने, जैसा की खबर आ रही है अब अभी अपनी सारी फाइनेंशियल मीटिंग स्थगित कर दी है जो आगामी सप्ताह चीन के साथ होनी थी।
पहले भारत के पास चीन के प्रोडक्ट्स के बहिष्कार का कोई कारण नहीं था, लेकिन अब इसके लिए अब खुद चीन ने अपने हाथों से यह रास्ता बनाकर भारत के लिए खोलकर सौंप दिया है।
ब्राजील और स्विट्जरलैंड दो ऐसे देश हैं जहाँ से सारे नंबर-दो के काम होते हैं। ब्राजील पूरी दुनिया में ड्रग्स का सबसे बड़ा सप्लायर है जबकि स्विट्जरलैंड ब्लैक मनी कंट्रोल करता है। ये सारे खेल अमेरिका अपनी मर्जी के अनुसार ही खिलाता रहता है। भारत के साथ ही नहीं पूरे विश्व समुदाय के साथ।
मोदी जी ने तो इन लोगों को NSG के बहाने लपेटा भर है बस। नहीं तो जिस देश को बाकी 42 देश सपोर्ट कर रहे हो वो NSG के बिना क्या नहीं कर सकता?
खेल तो अब मजेदार बनेगा क्योंकि भारत ने अभी अभी चीन के साथ अपनी कारोबारी बैठकें रद्द करके अपनी आगे की रणनीति को शुरू भी कर दिया है।

आगे-आगे देखिए होता है क्या?
आप सब का भारत तो अब हर हाल में आगे बढ़कर रहेगा।

(अदिति गुप्ता हिस्ट्री चैनल के लिए काम करती हैं। घूमना-फिरना उनका शौक है और वो सोशल मीडिया पर नरेंद्र मोदी के पक्ष में बेबाकी से बोलने के लिए जानी जाती हैं।)

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,