मुरली मनोहर जोशी पर नवभारत टाइम्स का झूठ

मीडिया कैसे झूठ फैलाता है इसकी एक मिसाल देखने को मिली है नवभारत टाइम्स अखबार में। रविवार को इस अखबार के वेब एडिशन में यह खबर दी गई कि इलाहाबाद में चल रही राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी शामिल नहीं हो रहे हैं, क्योंकि उनको बुलाया तक नहीं गया। यह खबर नवभारत टाइम्स की वेबसाइट पर रात 8 बजकर 25 मिनट पर पोस्ट की गई। जबकि डॉ. जोशी दिन भर बैठक में मौजूद थे। वो बैठक में अगली लाइन में बैठे थे।

पहली नजर में ऐसा लगता है कि नवभारत टाइम्स ने यह खबर जानबूझकर बीजेपी के अंदर झगड़ा दिखाने की नीयत से गढ़ी थी। ऐसा देखा गया है कि ऐसी फर्जी खबरें पब्लिश करके अफवाह फैलाने की कोशिश की जाती है और जब इसका खंडन आता है तो छोटी सी माफी मांगकर खबर हटा दी जाती है। लेकिन तब तक नुकसान हो चुका होता है।

 

NBT fake news

 

बीजेपी बैठक में डॉ. जोशी का वीडियो

वेबसाइट से अफवाहें उड़ता है नवभारत टाइम्स!

टाइम्स ग्रुप का यह अखबार झूठी खबरें उड़ाने के कई मामलों में पहले भी आरोपों में घिर चुका है। ऐसी ज्यादातर गलत खबरों का मकसद बीजेपी के विरोध में होता है। हाल ही में जेएनयू में देशद्रोही नारेबाजी के मामले में इस अखबार ने खुलकर आरोपियों का साथ दिया था और ऐसी कई खबरें पोस्ट की थीं, जिनसे उन्हें फायदा होता। ऐसी ज्यादातर फर्जी खबरों में सोर्स या संवाददाता का अता-पता नहीं होता। उसकी जगह ऊपर सिर्फ ‘एजेंसियां’ लिख दिया जाता है। मुरली मनोहर जोशी के बारे में छापी गई फर्जी खबर का सोर्स भी ‘एजेंसियां’ को ही बताया गया है, जबकि देश की किसी भी न्यूज़ एजेंसी ने यह खबर नहीं दी है। आश्चर्य की बात यह है कि नवभारत टाइम्स की वेबसाइट पर सोशल मीडिया पर फैलाए जाने वाली झूठी खबरों के खिलाफ एक अभियान चलाया जाता है। इसके बावजूद यह अखबार खुद झूठी खबरों को पैदा करने और उन्हें फैलाने के खेल का सबसे बड़ा जरिया बन चुका है।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: ,

Don`t copy text!