एटीएम से नकली नोट निकले तो क्या करें?

अक्सर आपने सुना होगा कि बैंक के एटीएम से नकली नोट निकला। ग्राहक इन नोट को लेकर जब बैंक की ब्रांच में जाते हैं तो वो ये कहकर नोट को लेने से इनकार कर देते हैं कि इस बात की क्या गारंटी है कि नोट एटीएम से ही निकला है। ऐसे में सवाल होता है कि लोग क्या करें? क्या 500 या 1000 रुपये के उस नकली नोट को फाड़कर फेंक दें और अपना नुकसान सह लें या उसे चुपके से नोटों की गड्डी के बीच डालकर चला दें?

नकली नोट की शिकायत जरूरी है

अगर आपको पता चलता है कि जो पैसे आपने निकाले थे उनमें से कुछ नोट नकली हैं। तो सबसे पहले आपको बैंक की ब्रांच में जाकर औपचारिक शिकायत दर्ज करानी चाहिए। इसके लिए आप अपनी एटीएम पर्ची या बैंक एकाउंट का स्टेटमेंट भी अटैच कर सकते हैं। बैंक के मैनेजर को आपकी शिकायत लेनी होगी। अगर वो इससे इनकार करता है या कोई कार्रवाई नहीं करता है तो अपनी शिकायत सीधे रिजर्व बैंक को भेजें। इसका पता भी आपको बैंक की ब्रांच से ही मिल जाएगा। साथ ही लोकल पुलिस थाने में इसकी शिकायत दर्ज करवाएं। क्योंकि याद रखें कि जिस बैंक के एटीएम से यह नोट निकला है वह भी नकली नोट चलाने की कोशिश का आरोपी माना जाएगा। अगर आप शिकायत दर्ज न कराकर नोट चलाने की कोशिश करेंगे तो खुद ही आपके खिलाफ केस दर्ज हो सकता है।

एटीएम के नोट पर सख्त हैं नियम

दरअसल बैंकों को यह आदेश है कि एटीएम मशीनों में डाले जाने वाली सारी नोट को पहले चेक किया जाए कि कहीं कोई नकली नोट तो नहीं। लेकिन सच्चाई यही है कि बैंक इस आदेश का पूरा पालन नहीं करते। दूरदराज के एटीएम में नोट की असलियत चेक करने के लिए बैंकों के पास कोई इन्फ्रास्ट्रक्चर भी नहीं होता। ऐसे में ग्राहकों को अपने अधिकारों की जानकारी रखना जरूरी है। ताकि अगर आप मुसीबत में फंसें तो खुद को बाहर निकाल सकें और बेवजह आपको नुकसान न उठाना पड़े।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,