मोदी के खिलाफ मीडिया का मोहरा है साध्वी प्राची!

केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद से मीडिया और पत्रकारों का एक खास तबका जिस तरह से साध्वी प्राची के बयानों को तूल दे रहा है उससे यह सवाल उठ रहा है कि इस सारे तमाशे के पीछे कहीं कांग्रेस का हाथ तो नहीं। एक दिन पहले ही साध्वी प्राची ने कहा कि देश ‘कांग्रेस मुक्त’ हो चुका है और अब इसे ‘मुसलमान-मुक्त’ बनाना है। बेवकूफी से भरे इस बयान के बारे में किसी को पता भी नहीं चलता अगर एक साथ सारे टीवी चैनलों और अखबारों ने इसे बढ़ा-चढ़ा कर नहीं दिखाया होता।

वीएचपी की नेता नहीं है साध्वी प्राची

तमाम बड़े चैनल और अखबार उसे विश्व हिंदू परिषद का नेता बताते हैं। कुछ तो उसे बीजेपी का नेता तक बता चुके हैं। जबकि सच्चाई यह है कि साध्वी का संघ से जुड़ी किसी संस्था से कोई लेना-देना नहीं है। किसी को यह भी नहीं पता वो कैसे अचानक रातों-रात मीडिया की नजरों में इतनी बड़ी ‘हस्ती’ बन गईं। विश्व हिंदू परिषद बार-बार यह सफाई देता है कि साध्वी प्राची से उसका कोई संबंध नहीं, लेकिन यह सफाई जानबूझकर मीडिया कभी नहीं दिखाता। नीचे आप वीएचपी के प्रवक्ता विनोद बंसल का औपचारिक बयान देख सकते हैं।

बीजेपी भी कई बार कह चुकी है कि वो साध्वी के बयानों से कतई सहमत नहीं है। कभी बीजेपी के किसी बड़े नेता को उनके साथ देखा भी नहीं गया है। इसके बावजूद मीडिया उसे तूल देता रहा है।

नीचे आप तमाम बड़े चैनलों अखबारों की खबरें देख सकते हैं जिनमें उन्होंने बड़ी ही चालाकी के साथ साध्वी प्राची को बीजेपी नेता ही नहीं, बीजेपी का सांसद तक बताया है।

Sadhvi Prachi media clips


मोदी की अमेरिका यात्रा की सफलता से ध्यान भटकाने की कोशिश!

साध्वी प्राची के रूप में मीडिया को एक ऐसा चेहरा मिल गया है जिसके ऊल-जलूल बयानों से केंद्र सरकार को जब चाहें शर्मिंदा किया जा सकता है। हमारे सूत्रों के मुताबिक कई बार साध्वी वो बयान देती हैं, जिसकी स्क्रिप्ट पहले न्यूज़ चैनलों के दफ्तर में तैयार की गई होती है। कुछ दिन पहले से मीडिया इसका बैकग्राउंड तैयार करती है और भी तय समय पर साध्वी प्राची अपना बयान देकर सारे कैमरों का रुख अपनी तरफ कर लेती हैं। इस बार भी साध्वी ने यह बयान तब दिया है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका में हैं। मोदी ने मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम (MTCR) के दरवाजे भारत के लिए खुलवाए हैं, जो एक ऐतिहासिक मौका है। देश को इस बारे में पता न चलने पाए इसलिए मीडिया के अंदर बैठे कांग्रेस के कुछ जाने-माने चेहरों ने साध्वी प्राची के ताजा बयान की कहानी तैयार करवा दी।


कौन है साध्वी प्राची?

साध्वी प्राची यूपी के बागपत जिले की रहने वाली हैं। उनका परिवार खुद को आर्य समाजी बताता है। योग और वेद विषयों में दो बार एमए किया हुआ है। वेदों पर उन्होंने डॉक्टरेट भी कर रखा है। सारी पढ़ाई-लिखाई हरिद्वार और मुजफ्फरनगर में हुई है। वो खुद को साध्वी ऋतंभरा की गुरु बहन बताती हैं। साध्वी प्राची हरियाणा के करनाल में एक महिला गुरुकुल कॉलेज की प्रिंसिपल भी रह चुकी हैं।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,