राहुल गांधी की सेहत पर अफवाहें क्यों उड़ रही हैं?

सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा गरम है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी एम्स में भर्ती हैं और उनकी तबीयत खराब है। हालांकि इस बारे में राहुल गांधी के करीबी सूत्रों या कांग्रेस पार्टी की तरफ से कोई औपचारिक सफाई नहीं दी गई है। कुछ लोगों ने तो यहां तक अफवाहबाजी शुरू कर दी कि राहुल गांधी को ड्रग्स ओवरडोज़ के बाद एम्स में भर्ती कराया गया है। जबकि इस बात का कहीं कोई सिरपैर नहीं है। यह बात हम सोशल मीडिया के कुछ ट्वीट्स के हवाले से कह रहे हैं। हालांकि यह सवाल अब भी बाकी है कि क्या राहुल गांधी एम्स में भर्ती हैं? हां या नहीं? अगर हां तो क्यों?
टाइम्स नाऊ के पत्रकार आदित्य राज कौल ने पिछली शाम एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने एक बड़े राजनेता की तबीयत खराब होने और उन्हें एम्स में भर्ती किए जाने का जिक्र किया था। इसके फौरन बाद अटकलें लगने लग गईं कि यह राजनेता कोई और नहीं, बल्कि राहुल गांधी ही हैं। आदित्य राज कौल ने खुद अपने ट्वीट में राहुल गांधी का नाम नहीं लिखा है।

हालांकि कुछ घंटों बाद आदित्यराज कौल ने अपना एकाउंट प्राइवेट कर लिया, ताकि उनका ट्वीट आम लोगों को न दिखाई दे।

कुछ समय से बीमार हैं राहुल गांधी?

राहुल गांधी की तबीयत बीते कुछ समय से खराब है। आम तौर पर मीडिया गांधी परिवार के सदस्यों की बीमारी की खबरों को टॉप सीक्रेट रखता है। लेकिन पिछले हफ्ते विधानसभा चुनाव के लिए वोटों की गिनती से पहले राहुल की बीमारी की खबर आने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके जल्दी स्वास्थ्य लाभ की कामना ट्विटर पर की थी। इस बारे में स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने प्रधानमंत्री के हवाले से ट्वीट किया था, जिसके बाद यह खबर मीडिया में आ गई थी कि राहुल गांधी बीमार हैं।

कांग्रेस नेता का हाल पूछने गए थे एम्स

वैसे एक खबर यह भी है कि 25 मई को राहुल गांधी एम्स में भर्ती असम कांग्रेस के नेता अंजन दत्ता का हालचाल पूछने गए थे। कुछ लोगों का कहना है कि राहुल गांधी से जुड़ी इसी खबर में तड़का लगाकर विरोधियों ने कुछ का कुछ बना दिया। फिलहाल इन तमाम उड़ती खबरों में जो भी सच्चाई हो। ट्विटर और फेसबुक पर कई लोग राहुल की तबीयत को लेकर वाकई फिक्रमंद हैं। ये लोग चाहते हैं कि कांग्रेस पार्टी या एम्स प्रशासन को स्थिति साफ करनी चाहिए ताकि किसी तरह की अफवाह की गुंजाइश न बचे।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: ,