Loose Top

इस बार गर्मी बहुत पड़ेगी, बारिश भी अच्छी होगी!

मौसम विभाग ने पहली बार मॉनसून की तर्ज पर गर्मी के सीजन के लिए भी अनुमान जारी किया है। इसके मुताबिक अप्रैल से जून तक भयानक गर्मी के लिए तैयार रहिए। इस दौरान सामान्य से अधिक गर्मी पड़ेगी। खुशखबरी की बात ये है कि मॉनसून अच्छा रहेगा। अल-नीनो इफेक्ट कमजोर पड़ने के आसार हैं, जिससे जून के बाद अच्छी बारिश होगी। पिछले लगातार 2 साल से मॉनसून खराब रहा है।

गर्मी के लिए क्या है पूर्वानुमान?

  • उत्तर-पश्चिमी राज्यों में अप्रैल, मई और जून के तीन महीनों में औसत तापमान 1 डिग्री सेल्सियस तक ज्यादा रहेगा।
  • इस दौरान अधिकतम और न्यूनतम दोनों ही तापमानों में बढ़ोतरी होगी।
  • मध्य और उत्तर-पश्चिमी इलाकों में इस साल लू पिछले कुछ सालों के मुकाबले ज्यादा पड़ेगी

बारिश के सीजन का पूर्वानुमान

  • इस बात के संकेत मिल रहे हैं कि अल-नीनो इफेक्ट कमजोर पड़ रहा है।
  • इसका मतलब हुआ कि मॉनसून वक्त पर आएगा और बारिश भी अच्छी होगी।
  • अल-नीनो इफेक्ट की वजह से ही पिछले दो साल से मॉनसून खराब रहा है।
  • प्रशांत महासागर में समंदर की सतह की गर्मी लगातार कम हो रही है और अगले 2 महीने में इसके सामान्य होने का अनुमान है।

क्या होता है अल नीनो इफेक्ट?

दरअसल दुनिया भर का मौसम समुद्र के पानी और वायुमंडल के बीच मेलमिलाप का नतीजा है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक भारत का मॉनसून हजारों किलोमीटर की दूरी पर मौजूद भूमध्य रेखा से चलने वाली हवाओं का नतीजा है। भूमध्य रेखा से चलने वाली हवाएं दक्षिण अमेरिका में चिली के पास प्रशांत महासागर (pacific ocean) की सतह के तापमान पर निर्भर करती हैं। जब यहां पर समुद्र की सतह का तापमान सामान्य से ज्यादा होता है तो इसे लैटिन में ‘अल नीनो’ कहते हैं। अल नीनो का मतलब होता है चाइल्ड ऑफ क्राइस्ट। ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहां पर समंदर की सतह दिसंबर के अंत में गरम होनी शुरू होती है। अल नीनो की स्थिति में मॉनसून की हवाओं पर उलटा असर पड़ता है।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या नरेंद्र मोदी सरकार इसी कार्यकाल में जनसंख्या कानून लाएगी?

View Results

Loading ... Loading ...

Popular This Week

Don`t copy text!