चीन की ये तस्वीरें देख दुनिया सिहर उठी!

चीन में बर्फ पर बच्चों की ट्रेनिंग

चीन में बच्चों को फौजी ट्रेनिंग की कुछ तस्वीरें इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब  शेयर हो रही हैं। इन तस्वीरों में 10 साल से छोटे बच्चों को नंगे बदन बर्फ पर कसरत करते देखा जा सकता है। ये तस्वीरें चीन के नानजिंग इलाके के एक ट्रेनिंग सेंटर की हैं, जहां इन दिनों तापमान ज़ीरो से 9 डिग्री तक नीचे रहता है। इन बच्चों ने फौजियों की तरह पैंट पहन रखी है।

बर्फ में बच्चों की ट्रेनिंग क्यों?

दरअसल चीन में बच्चों को खेल, सेना या ऐसे दूसरे पेशों के लिए तैयार करने का काम छोटी उम्र से ही शुरू कर दिया जाता है। ऐसा करते हुए अक्सर वहां ऐसे तरीके भी अपनाएं जाते हैं जो हमारे देश में कतई स्वीकार नहीं किए जा सकते। जैसे कि इन तस्वीरों में एक बच्चे को अपने नंगे बदन पर बर्फ रगड़ते देखा जा सकता है। हालांकि ऐसा बच्चों को करीब एक घंटे तक वार्म अप करवाने के बाद ही कराया जाता है। फिर भी इतनी कड़ाके की सर्दी में बच्चों से शरीर पर बर्फ रगड़वाने या देर तक बर्फ पर लेटे रहने से बच्चों को गंभीर नुकसान का खतरा भी रहता है।

मां-बाप खुद भेजते हैं बच्चों को

चीन में मां-बाप अपने बच्चों को मजबूत बनाने की नीयत से इस तरह की ट्रेनिंग दिलवाते हैं। मकसद यह होता है कि बच्चा बचपन से ही इतना मजबूत हो कि आगे चलकर वो हर तरह की चुनौती का सामना कर सके। कुछ साल पहले ऐसी ही ट्रेनिंग की तस्वीरों पर दुनिया भर में भारी विवाद उठ खड़ा हुआ था। इन तस्वीरों में कई बच्चों को रोते हुए देखा जा सकता था। कहते हैं कि इस सख्त ट्रेनिंग में अक्सर बच्चों की तबीयत भी बिगड़ जाती है, लेकिन चीन की सरकार और मीडिया इन खबरों को दबा देता है और सही तस्वीर कभी लोगों तक पहुंच नहीं पाती है।

[espro-slider id=2396]

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , ,

Don`t copy text!