चापलूसी का ऐसा आइटम पहले नहीं देखा होगा!

Youtube वीडियो से ली गई स्टिल इमेज

सेंसर बोर्ड के चेयरमैन पहलाज निहलानी ने चमचागीरी का नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है। दरअसल उन्होंने मोदी सरकार पर एक म्यूजिक वीडियो बनाया है, जिसका छोटा वर्जन ‘प्रेम रतन धन पायो’ के दौरान कई जगह थिएटरों में दिखाया जा रहा है। इस गाने का टाइटल है ‘मेरा देश है महान, मेरा देश है जवान’। वैसे तो ये वीडियो बेहद घटिया क्वालिटी का है। ऊपर से मोदी सरकार की कामयाबियों के नाम पर ऐसी-ऐसी तस्वीरें दिखाई गई हैं, जो भारत की हैं ही नहीं। पहले आप यह वीडियो देखिए।

सैंडी नाम की एक लड़की ने वीडियो के 11 सीन की लिस्ट बनाई है, जो भारत में नहीं हैं। जबकि वीडियो में इन्हें मोदी सरकार की सफलता के तौर पर दिखाया गया है। इस ट्वीट के वायरल होने के बाद खुद पहलाज निहलानी के होश उड़ गए और उन्होंने यह म्यूजिक वीडियो सिनेमाघरों से वापस ले लिया।

1. ये भारत नहीं दुबई का हाइवे है। मोदी सरकार की उपलब्धि के तौर पर दिखाया गया यह एक्सप्रेसवे अभी दुबई में बन रहा है।

2. यह भारत का लड़ाकू विमान नहीं, बल्कि अमेरिकी एयरफोर्स टॉमकैट फाइटर है।

3. यूं तो भारत में भी ऐसी बिल्डिंगें हैं, लेकिन पहलाज निहलानी को उनमें से कोई पसंद नहीं आई। उन्होंने मॉस्को के इंटरनेशनल बिजनेस सेंटर का क्रेडिट मोदी सरकार को दे डाला।

4. यह इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के पास जापान का स्पेसक्राफ्ट एचटीवी-3 है। भारत का स्पेस प्रोग्राम भी काफी एडवांस है, लेकिन जापान से चोरी करने की क्या जरूरत आ पड़ी?

5. नासा का स्पेस शटल अटलांटिस भी मोदी सरकार की कामयाबी हो गया। इस तस्वीर के इस्तेमाल में पहलाज निहलानी के दिमाग की बत्ती जल उठी थी। उन्होंने स्पेस शटल पर बने नासा के लोगो को फोटोशॉप से हटा दिया। लेकिन चोरी फिर भी पकड़ी गई।

6. यह तस्वीर देखकर कोई भी फौरन बता सकता है कि यह यूरोप में होने वाले टुअर द फ्रांस की है। लेकिन यह बात सेंसर बोर्ड के चेयरमैन को नहीं पता। उन्होंने इसे देश का गौरव बढ़ाने वाला माना और फौरन टीप दिया।

7. अमेरिका के कैलीफोर्निया की ये सोलर पैनल और पवनचक्कियां दुनिया भर में मशहूर हैं। कई जगह इनकी तस्वीरें देखने को मिल जाती हैं। लेकिन पहलाज निहलानी भक्ति में कुछ ऐसे डूबे कि वो इसे भारत का समझ बैठे।

8. यह अमेरिका का इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन है। अगर आपको स्पेस साइंस में जरा सा भी इंटरेस्ट है तो आपको पता होगा। लेकिन हमारे देश के सेंसर बोर्ड के चेयरमैन को यह बात नहीं पता। वैसे उन्होंने स्पेस स्टेशन पर फोटोशॉप की मदद से मेक इन इंडिया का लोगो चिपका दिया है। कहने की जरूरत नहीं है कि अब यह भी मेड इन इंडिया हो गया है।

9. यह नासा का डिस्कवरी शटल है। इससे यह पता चलता है कि पहलाज निहलानी को स्पेस साइंस में काफी इंटरेस्ट है। लेकिन उनकी अक्ल पांचवीं क्लास में पढ़ने वाले किसी बच्चे से भी कम है।

10. हो सकता है कि यह INS विक्रमादित्य की फोटो हो, लेकिन एक बार इसके डेक पर लगे झंडे पर नजर डालिए। ये और किसी देश का भले ही हो सकता है, लेकिन भारत का तो कतई नहीं है।

11. अब तो हद ही हो गई पहलाज भाई। यह जगह तो न्यू मैक्सिको में हैं और इसे वीएलए के नाम से जाना जाता है।

वैसे चापलूसी से भरे इस घटिया वीडियो फिल्म और ऊपर से इसमें चोरी का मामला सामने आने के बाद पहलाज निहलानी ने थिएटरों में इसका प्रदर्शन रोक दिया है। साथ ही यूट्यूब पर इस फिल्म के साथ कमेंट्स को डिसेबल कर दिया गया है। ताकि वीडियो देखकर कोई अपनी खीझ भी न निकाल सके। देखिए इस बारे में एनडीटीवी पर अपनी सफाई में पहलाज निहलानी ने क्या कहा।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,