सुप्रीम कोर्ट ने आम जनता से सुझाव मांगे हैं!

इतिहास में शायद पहली बार सुप्रीम कोर्ट ने आम जनता से राय मांगी है। लोगों से सुझाव मांगे गए हैं कि क्या किया जाए ताकि सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के जजों की नियुक्ति के सिस्टम को बेहतर बनाया जा सके। दरअसल राष्ट्रीय न्यायिक नियुक्ति आयोग या NJAC को असंवैधानिक करार देने के बाद से सुप्रीम कोर्ट को आलोचना का सामना करना पड़ा है। अभी जज ही जजों की नियुक्ति करते हैं। इस बारे में कोलीजियम फैसले लेती है।

13 नवंबर तक मंगाए गए सुझाव

कानून और न्याय मंत्रालय की वेबसाइट पर कोई भी इस बारे में सुझाव दे सकता है। इसके लिए 13 नवंबर शाम 5 बजे तक लास्ट डेट है। जो सुझाव और मुद्दे उठाए जाएंगे उन पर सुप्रीम कोर्ट 18 और 19 नवंबर को सुनवाई करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने तीन वकीलों की एक कमेटी बनाई है। जो अलग-अलग सुझावों पर जिरह करेगी। इस कमेटी में अटॉर्नी जनरल, बार कौंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन और सीनियर वकील फली एस नरीमन होंगे।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , ,