चावल ही नहीं, अब नकली अंडा और मीट भी

कुछ दिन पहले चीन में बन रहे नकली चावलों की खबर आई थी, लेकिन अब चावल ही नहीं पत्तागोभी, अंडे और मीट भी नकली बनने लगे हैं। चीन में बनाए जा रहे ये नकली प्रोडक्ट्स दिखने में हू-ब-हू असली लगते हैं। लेकिन इन्हें केमिकल्स से बनाया जा रहा है। इन्हें खाना सेहत के लिए बेहद खतरनाक हो सकता है।

1. देखिए कैसे बन रहा है नकली अंडा

अंडा बनाने के लिए जेल जैसे कुछ केमिकल इस्तेमाल किए जाते हैं। इसे बनाने में सिर्फ कुछ मिनट का वक्त लगता है। जो अंडा बिल्कुल ऐसा दिखता है जैसे तुरंत फोड़ा गया हो। एक प्रॉसेस में इसे उबले अंडे जैसा भी बनाया जा सकता है। प्लास्टर ऑफ पेरिस और वैक्स के घोल से इन अंडों का खोल भी तैयार किया जा रहा है। यूट्यूब पर पड़े इस वीडियो में अंडा बनाने का पूरा प्रॉसेस देखा जा सकता है।



2. दिखने में असली, लेकिन नकली मीट

चीन से दुनिया भर के मार्केट में मीट ग्लू (meat glue) नाम का एक प्रोडक्ट बेचा जा रहा है। इसका इस्तेमाल क्या है ये कम लोगों को ही मालूम होगा, लेकिन डिमांड खूब है। ये एक तरह का एंजाइम है जो पैकेट्स में बिकता है। इससे मांस बनाया जा सकता है। ऐसा मांस, जो देखने में और बिल्कुल असली जैसा दिखे। इसमें मीट जैसी आर्टिफिशियल महक भी पहले से डाली हुई होती है। कुछ साल पहले अमेरिका और यूरोप में कई जगह ऐसे मीट ग्लू पकड़े गए थे और मीडिया में भी इनकी खबरें आई थीं।

3. घर बैठे ऐसे बनती है पत्तागोभी

आपको लगता है कि पत्ता गोभी बनाना नामुमकिन है तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। चीन में ऐसी पत्तागोभी बनाई जा रही है जो दिखने में बिल्कुल असली मालूम होती है। सलाद की तरह काटकर इसे आपक आगे परोस दिया जाए तो आपको ये दिखने में असली से भी ज्यादा खूबसूरत दिखेगी।

4. चीन की फैक्ट्रियों में ऐसे बन रहा है चावल

यह मामला कुछ समय पहले काफी सुर्खियों में आया था। दावा किया गया था कि चीन से प्लास्टिक के चावल फैक्ट्री में तैयार करके दुनिया भर में बेचे जा रहे हैं। इसे असली चावल के बीच में मिक्स कर दिया जाता है। यह चावल असली चावल की तरह पकाने पर नरम भी हो जाता है। असली और नकली का फर्क जरा भी मालूम नहीं होता। लेकिन यह चावल खाने पर लीवर और किडनी पर बेहद खतरनाक असर पड़ सकता है।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , , , ,