‘रक्षामंत्री जी, मेरी बेटी अब आपकी जिम्मेदारी है’

सेना में एक महिला अफसर के साथ यौन उत्पीड़न का बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। इस अफसर के पिता ने रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर को एक बेहद मार्मिक चिट्ठी लिखकर इंसाफ की मांग की है। 26 साल की इस महिला अफसर ने इसी साल 26 जनवरी की परेड में महिला शक्ति के प्रतीक के तौर पर हिस्सा लिया था। उसने 2013 में सेना ज्वाइन किया था।

क्या है पूरा मामला?

शिकायत करने वाली महिला अधिकारी अलवर में सेना के सिग्नल कोर में तैनात हैं। उन्होंने अपने कमांडिंग ऑफिसर (कर्नल रैंक) के खिलाफ करीब 2 महीने पहले शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद मामले पर कमेटी की बैठक इस महीने हुई। कमेटी ने आरोपी कमांडिंग ऑफिसर के खिलाफ शुरुआती कार्रवाई की सिफारिश भी कर दी।

पिता ने चिट्ठी में क्या लिखा है?

महिला फौजी अफसर के पिता ने चिट्ठी में बताया है कि कैसे आरोपी को सज़ा देने के बजाय उसे अच्छी पोस्टिंग पर दूसरी जगह भेजा जा रहा है। दोषी पाए जाने के बावजूद कमांडिंग ऑफिसर मेरी बेटी को बदनाम करने में जुटा हुआ है। उन्होंने ये लिखा है कि अगर एक कसूरवार को इस तरह से इनाम दिया जाएगा तो आगे से कोई पिता अपनी बेटी को सेना में भेजने से भी डरेगा। उन्होंने अपनी चिट्ठी के आखिर में लिखा है कि “मैंने बेटी को बचाया, बेटी को पढ़ाया और आर्मी में भर्ती किया, अब उसकी अमानत और इज्ज़त आपकी जिम्मेदारी है। मुझे विश्वास है कि आप अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाएंगे।”

नीचे ये पूरी चिट्ठी आप पढ़ सकते हैं

IMG_20151019_144142

एक अपील: देश और हिंदुओं के खिलाफ पत्रकारिता के इस दौर में न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , ,