दिल्ली में बिक रहे हैं नकल कराने वाले गैजेट्स!

एग्जाम में नकल के लिए पर्चियां बनाने का जमाना बहुत पहले जा चुका है… मुन्नाभाई का हाईटेक तरीका भी सबको पता चल चुका है… ऐसे में नकल के नए-नए हाइटेक गैजेट्स मार्केट में मिल रहे हैं। चीन से बनकर आए ये प्रोडक्ट्स दिल्ली और मुंबई जैसे शहरों के मार्केट में 1 हजार से लेकर 10 हजार तक में बिक रहे हैं। राजस्थान में नौकरियों के लिए भर्ती की एक परीक्षा में नकल की जांच के दौरान इन हाइटेक गैजेट्स के इस्तेमाल का पता चला है। राजस्थान पुलिस ने दिल्ली में इस सिलसिले में कुछ दुकानों पर छापे भी मारे हैं।

पेन से लेकर कपड़े तक से नकल

राजस्थान में जूनियर एकाउंटेंट भर्ती परीक्षा में नकल के मामले में मुख्य आरोपी जगदीश विश्नोई ने पुलिस को बताया है कि दिल्ली के ग्रीन पार्क इलाके में एक दुकान से वो रेडीमेड कपड़े खरीदता था। इस कपड़े की खासियत ये थी कि इसमें एक साथ नकल का सारा साजो-सामान फिट किया जा सकता था। कपड़े में ही पूरा सर्किट होता था जिसे पकड़ना लगभग नामुमकिन है। इस बनियाननुमा कपड़े की कीमत है 10 हजार रुपये।

कैसे चलता था नकल का कारोबार

एग्जाम देने वाले को अपने साथ एक खास स्पाई कैमरा रखना होता था। पेन जैसा दिखने वाला ये कैमरा आप जैसे ही पेपर पर घुमाएंगे सारे सवालों की खुद-ब-खुद फोटो खिंच जाएगी और वो पहले से तय नंबर पर खुद ही पहुंच जाएगी। इसके बाद पेन पर ही बने स्क्रीन पर हर सवाल के जवाब पहुंचना शुरू हो जाएंगे। आप चाहें तो स्किन कलर का ईयरफोन भी कान में लगा सकते हैं। इसका साइज़ ऐसा है कि बहुत ध्यान से देखने पर ही पता चलेगा कि आपने कान में कुछ लगा रखा है।

इन मशीनों के अलावा बटन स्पाई कैमरा, चश्मे और पानी की बॉटल के जरिए भी इम्तिहानों में नकल हो रही है। मुश्किल बात ये है कि ज्यादातर स्कूल और टीचर ऐसी नकल को रोकने के लिए तकनीकी रूप से सक्षम नहीं हैं।

comments