बनारस की वो लड़की जिसका जिक्र मोदी ने किया

पीएम नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर को स्वच्छ भारत अभियान के एक प्रोग्राम के दौरान नगालैंड की एक लड़की की कहानी सुनाई, जो बनारस के घाटों को साफ करने का अभियान चला रही है। मोदी पिछले दिनों जब बनारस यात्रा पर गए थे तो उन्होंने तेम्सतुला इमसॉन्ग नाम की इस लड़की और उसके साथियों से मुलाकात भी की थी। शुरू में अकेले काम करने वाली इस लड़की के साथ आज नौजवानों की पूरी एक टीम है। इन्होंने आपस में मिलकर गंगा के प्रभुघाट की सफाई शुरू की और अभियान का नाम रखा ‘मिशन प्रभुघाट’। हालांकि इनके मिशन में अब कई नए घाट भी जुड़ चुके हैं।

खुद अपने हाथों से करते हैं सफाई

तेम्सतुला इमसॉन्ग और उनकी टीम के लोग ने कुछ घाटों पर गंदगी हटाने का काम शुरू किया। धीरे-धीरे उनके साथ कुछ और नौजवान जुड़ते गए और आज पूरी एक टीम न सिर्फ गंगा के घाटों बल्कि आसपास के तालाबों और गलियों की भी सफाई में जुटी है। तेम्सतुला की टीम को आम तौर पर प्रशासन से कोई मदद नहीं मिलती। ये लोग घाटों पर बह रहे नालों को ठीक करते हैं और यहां-वहां बरसों से पड़ी गंदगी को हटाते हैं।

7

मिशन प्रभुघाट के सदस्य पहले घाटों पर पड़े कचरे को हटाते हैं और फिर घाटों की धुलाई भी करते हैं।

आसान नहीं है घाट सफाई का अभियान

पीएम मोदी ने यह भी बताया कि कैसे ये लोग कड़ी मेहनत से पूरा घाट साफ करते हैं और अगले दिन जब पहुंचते हैं तो फिर से हर तरफ गंदगी हो चुकी होती है। बनारस जैसे शहर में जहां हर रोज हजारों लोग दूसरे शहरों से स्नान और मंदिरों के दर्शन के लिए पहुंचते हैं ये काम बेहद कठिन है, क्योंकि इनमें से कई लोग घाटों को गंदा करते रहते हैं। लेकिन इतनी मुश्किल के बावजूद तेम्सतुला और उनकी टीम का हौसला डगमगाया नहीं।

कैसे बनी मिशन प्रभुघाट की टीम?

तेम्सतुला की टोली में ज्यादातर पढ़ाई-लिखाई कर रहे नौजवान हैं। इन सभी के लिए करियर चाहे जो हो लेकिन गंगा और अपने शहर बनारस को साफ करना एक मिशन है। मिशन की एक साथी दर्शिका शाह हैं जो दिल्ली यूनिवर्सिटी से पढ़ाई पूरी करके इस अभियान में पूरी तरह जुट गई हैं। बनारस के बहुत सारे नौजवान भी अब इस टीम का हिस्सा बन चुके हैं। इनमें ज्यादातर बीएचयू के स्टूडेंट हैं।

5

गंगा की सफाई के इस अभियान में अब कई नौजवान भी जुड़ चुके हैं। ज्यादातर बनारस या बाहर के शहरों में पढ़ाई कर रहे हैं। बचे वक्त में ये नौजवान घाटों पर अपने अभियान में जुट जाते हैं।


प्रधानमंत्री मोदी ने कई बार की तारीफ

मिशन प्रभुघाट के बारे में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जानकारी मिली तो उन्होंने ट्वीट करके तेम्सतुला और उनके साथियों की तारीफ की थी और पिछले दिनों डिजिटल इंडिया के मौके पर दिल्ली में प्रधानमंत्री ने तेम्सतुला और दर्शिका से मुलाकात भी की थी। इसके बाद जब पीएम मोदी जब 18 सितंबर को बनारस दौरे पर गए थे, तो उन्होंने तेम्सतुला की पूरी टीम से मुलाकात की थी।


(सभी तस्वीरें मिशन प्रभुघाट के सदस्यों के ट्विटर एकाउंट से ली गई हैं)

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: , , , , ,

Don`t copy text!