एक वो लखनऊ वाला दरोगा था, एक ये भी हैं!

लखनऊ में एक दरोगा के बुजुर्ग का टाइपराइटर फेंकने से यूपी पुलिस की बदनामी हुई, तो दूसरी ओर यूपी के ही एक दरोगा जी ने इसलिए सरेआम नहाना मंजूर कर लिया ताकि लोगों के खेत लहलहा उठें। यूपी के सिद्धार्थनगर में बारिश न होने से किसान परेशान हैं। बारिश हो इसके लिए महिलाओं ने एक थाने के इंचार्ज को ही नहला दिया।

थानेदार को नहलाने की क्या थी वजह?

दरअसल यहां पर मान्यता है कि अगर बारिश न हो तो राजा को लोटे से नहलाने पर इंद्र देवता खुश हो जाते हैं। अब राजा कहां से मिलता तो लोगों ने पड़ोस के थानेदार को ही राजा मान लिया। लोगों ने थानेदार रणविजय सिंह से बात की और वो इसके लिए तैयार भी हो गए। तय हुआ कि थाने में ही दरोगा जी को स्नान कराया जाएगा। स्नान से बचे पानी को परंपरा के मुताबिक पास के शिवमंदिर में चढ़ा दिया गया। मजे की बात ये रही कि दरोगा जी को स्नान कराने के बाद इलाके में थोड़ी-बहुत बारिश हुई भी।

दरोगा जी के कदम की तारीफ

थाना इंचार्ज रणविजय सिंह के इस कदम की इलाके के लोग तारीफ कर रहे हैं। आम तौर पर लोग ऐसी किसी परंपरा के लिए पुलिसवाले से बात करने में भी डरते, लेकिन उनके मिलनसार व्यवहार की वजह से लोग उनसे आसानी से घुल-मिल जाते हैं। किसी दरोगा या राजा को नहलाने से बारिश होती हो या न होती हो, लेकिन इसके पीछे छिपी नीयत की तारीफ तो की ही जा सकती है।

एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: ,