Loose Top Loose World

फिल्म में म्यूजिक देकर नापाक हो गए एआर रहमान!

मशहूर संगीतकार ए आर रहमान के खिलाफ भी फतवा जारी हो गया है। रहमान ने ईरानी फिल्ममेकर माजिद मजीदी की फिल्म ‘मुहम्मद: द मैसेंजर ऑफ गॉड’ में म्यूजिक दिया है। मुंबई के एक सुन्नी संगठन रज़ा एकेडमी ने उनके खिलाफ फतवा जारी किया है। इसमें कहा गया है कि रहमान और मजीदी नापाक हो गए हैं और उन्हें फिर से कलमा पढ़ना पड़ेगा।

क्या है ये पूरा मामला

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
  • मुहम्मद: द मैसेंजर ऑफ गॉड 27 अगस्त को रिलीज़ हो चुकी है।
  • फिल्म के डायरेक्टर माजिद मजीदी ऑस्कर भी जीत चुके हैं।
  • तकरीबन 253 करोड़ रुपये की लागत से बनी ये ईरान की सबसे महंगी फिल्म है।
  • मजीदी का कहना है कि ये फिल्म बाकी दुनिया में इस्लाम और मुसलमानों को लेकर फैलते डर को दूर करने के मकसद से बनाई गई है।
  • फिल्म में पैगंबर मुहम्मद साहब के बचपन की कहानी दिखाई गई है। लेकिन उनका रोल करने वाले एक्टर का चेहरा नहीं दिखाया गया है। सिर्फ उसकी परछाई दिखाई गई है।
  • फिल्म रिलीज़ होने के बाद से ही ज्यादातर अरब देश भड़के हुए हैं। सुन्नियों का सबसे बड़ा संगठन अल-अज़हर भी फिल्म के ख़िलाफ हैं।
  • रहमान का गुनाह यही है कि उन्होंने इस फिल्म में म्यूजिक दिया है।
  • रज़ा एकेडमी को इस बात से भी एतराज है कि फिल्म में कुछ गैर-मुसलमानों ने काम किया है।
  • संगठन ने पिछले हफ्ते गृह मंत्री राजनाथ सिंह और महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडनवीस को चिट्ठी लिखकर भारत में फिल्म पर बैन की मांग की थी।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या कांग्रेस का घोषणापत्र देश विरोधी है?

View Results

Loading ... Loading ...