आसाराम को ‘प्रसिद्ध संत’ बताने वाले 80 स्कूलों पर चलेगा सरकार का डंडा

नाबालिग से रेप के केस में करीब 2 साल से जेल में बंद आसाराम को महान संत बताने वाले स्कूलों पर सख्त कार्रवाई होगी। ये खबर आई थी कि राजस्थान के जोधपुर में 80 से ज्यादा स्कूलों में एक किताब पढ़ाई जा रही है, जिसमें आसाराम को महिमामंडित किया गया है। तीसरी क्लास में पढ़ाई जा रही ये किताब दिल्ली के एक प्राइवेट पब्लिशर ने छापी है। मॉरल एजुकेशन की किताब के तौर पर इसे पढ़ाया जा रहा था। उन्होंने इस बात से इनकार किया है कि सरकारी स्कूलों में भी यही किताब चल रही थी।

asaram

डिस्ट्रिक्ट एजुकेशन ऑफिसर अरविंद व्यास ने कहा है कि सभी स्कूलों को नोटिस जारी करके पूछा जाएगा कि बिना इजाज़त बाहरी पब्लिकेशन की किताब स्कूलों में कैसे आई। दिल्ली के गुरुकुल एजुकेशन बुक्स नाम के प्रकाशन की इस किताब का नाम है ‘नया उजाला’, जिसके पेज नंबर 40 पर मशहूर संतों की फोटो हैं। इनमें रामकृष्ण परमहंस, स्वामी विवेकानंद, गुरु नानक, महावीर, कबीर, मदर टेरेसा जैसे संतों के बीच आसाराम की फोटो भी है। नए जमाने के संतों में बाबा रामदेव का फोटो भी इसमें रखी गई है।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:

comments

Tags: ,