Loose Tech Loose Top Recent

रक्षाबंधन के मौके पर हमारी पृथ्वी के ‘बड़े भैया’ मिल गए

[corner-ad id=1]नासा ने ऐलान किया है कि उसके केप्लर टेलेस्कोप ने धरती जैसे हालात में रहने वाले एक ग्रह को ढूंढ निकाला है। साइज़ और उम्र में ये एक्सोप्लैनेट हमारी धरती का बड़ा भैया कहा जा सकता है।
केप्लर-452b नाम का ये ग्रह हमारी पृथ्वी से 1.6 गुना बड़ा है और इसका सूरज हमारे सूरज से दस परसेंट बड़ा है। अपने सूरज का चक्कर भी ये लगभग हमारी धरती के बराबर टाइम में यानी 385 दिन में पूरी कर लेता है। कुल मिलाकर वहां का मामला हमारी पृथ्वी से मिलता-जुलता ही दिख रहा है। हालांकि इस ग्रह पर ग्रैविटी धरती के मुकाबले करीब दोगुना होगी।

nasa

नासा ने इस बात की संभावना से भी इनकार नहीं किया है कि पृथ्वी के इस बड़े भैया पर जीवन भी हो सकता है। ये ग्रह पृथ्वी से पुराना है, इसलिए ऐसा भी हो सकता है कि वहां के लोग तकनीक के मामले में हमसे आगे हों। और धरती पर अक्सर दिखने वाले यूएफओ और एलियन सचमुच हों। कोई पीके जैसा सचमुच धरती पर आता हो।

PK spaceship

नासा की इस खोज ने दूसरी दुनिया से जुड़ी इन तमाम कल्पनाओं को नए पंख दे दिए हैं। साथ ही मशहूर वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने एक रूसी अरबपति के साथ मिलकर एलियंस को खोजने के लिए सौ मिलियन डॉलर का एक प्रोजेक्ट शुरू किया है। ये सब संकेत है कि कोई और भी है सुदूर, जिसके संकेत वैज्ञानिकों को मिल रहे हैं और उन तक पहुंचने की कोशिश शुरू हो गई है। नासा का ये वीडियो देखिए, जिसमें ग्रह की खोज से जुड़ी सारी जानकारी दी गई है।

कृपया लेख कॉपी-पेस्ट न करें। कई लोग पोस्ट कॉपी करके फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर देते हैं, जिससे वेबसाइट की आमदनी काफी कम हो गई है। राष्ट्रवाद की विचारधारा पर आधारित यह वेबसाइट बंद हो जाएगी तो क्या आपको खुशी होगी? कृपया खबरों का लिंक शेयर करें।
एक अपील: न्यूज़लूज़ के जरिए हम राष्ट्रवादी पत्रकारिता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर होने वाला खर्च बहुत ज्यादा है और हमारी आमदनी काफी कम। हम अपने काम को जारी रख सकें इसके लिए हमें आर्थिक मदद की जरूरत है। ये हमारे लिए ऑक्सीजन का काम करेगी। डोनेट करने के लिए क्लिक करें:
Donate with

comments

Polls

क्या कांग्रेस का घोषणापत्र देश विरोधी है?

View Results

Loading ... Loading ...